भारत

यूथ कांग्रेस का ‘रोजगार दो’ अभियान,बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र सरकार को घेरने का बड़ा प्लान

सरकार को घेरने के लिए ‘रोजगार दो’ अभियान शुरू करेगी युवा कांग्रेस

 

शुरुआती चरण में सोशल मीडिया पर अभियान चलाया जाएगा, जिसमें कांग्रेस के बड़े नेता भी शामिल होंगे. यूथ कांग्रेस की मांग है कि खाली पड़े सरकारी पदों पर भर्तियां हों और निजी क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा करने के लिए नीतियां बनें.

लंबे समय से देश पर छाए आर्थिक संकट और कोरोना महामारी और उसके चलते लगाए गए लॉकडाउन के कारण भयंकर हो चुकी बेरोजगारी की समस्या को लेकर भारतीय युवा कांग्रेस (आईवाईसी) 9 अगस्त से देशव्यापी #RozgarDo आंदोलन शुरू करेगी। इस आंदोलन का मकसद बेरोजगार युवाओं की आवाज बुलंद करना है और उनको रोजगार सुनिश्चित कराना है।

 

यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने कहा, “भारत में आज करोड़ों युवा बेरोजगार हैं और लोग बेरोजगारी के कारण आत्महत्या तक कर रहे हैं. केंद्र की मोदी सरकार हर साल 2 करोड़ लोगों को नौकरी देने का वादा करके सत्ता में आई थी. इस हिसाब से 6 सालों में 12 करोड़ लोगों को रोजगार मिलना चाहिए था. लेकिन पिछले कुछ महीनों में ही 12 करोड़ लोगों की नौकरी चली गई.” उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार रेलवे का निजीकरण और सरकारी कंपनियों को बेचकर युवाओं के रोजगार के अवसर लगातार छीन रही है.

9 अगस्त से अभियान की शुरुआत क्यों?

9 अगस्त भारतीय युवा कांग्रेस का स्थापना दिवस भी है इसलिए इस दिन को अभियान की शुरुआत के लिए चुना गया है. युवा कांग्रेस अगस्त महीने में अभियान की शुरुआत कर अगस्त क्रांति की तरह, बेरोजगारी के मुद्दे पर क्रांति का संदेश भी देना चाहती है.

 

श्रीनिवास ने बताया कि देशभर के बेरोजगार युवकों को ‘रोजगार दो’ अभियान से जोड़ा जाएगा. सोशल मीडिया पर अभियान चलाने के बाद दूसरे चरण में राज्य और जिला स्तर पर यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता और बेरोजगार युवक प्रदर्शन करेंगे और अभियान के तीसरे चरण में सभी बीजेपी सांसदों का उनके लोकसभा क्षेत्र में घेराव किया जाएगा.

 

इस अभियान से युवाओं को ज्यादा से ज्यादा तादाद में जोड़ने के लिए यूथ कांग्रेस इसे दिलचस्प बनाने पर भी काम कर रही है. यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी राहुल राव के मुताबिक सोशल मीडिया पर अभियान से जुड़े म्यूजिक वीडियो जारी किए जाएंगे. अभियान की शुरुआत में ‘रोजगार दो’ के पोस्टर लगी गाड़ियां घूम-घूम कर बीजेपी के पुराने वादों के ऑडियो लोगों को सुनाएगी. जगह-जगह नुक्कड़ मीटिंग की जाएगी और हर शहर में सिग्नेचर कैंपेन भी चलाया जाएगा.

 

आपको बता दें कि कोरोना लॉकडाउन के पहले भी फरवरी में यूथ कांग्रेस ने बेरोजगारी के मुद्दे पर अभियान शुरू किया था. समर्थन जुटाने के लिए एक मिस कॉल नम्बर जारी किया गया था और राष्ट्रीय बेरोजगारी रजिस्टर बनाने की मांग की गई थी. राहुल गांधी ने जयपुर में रैली भी की थी. यूथ कांग्रेस के मुताबिक 40 लाख से ज्यादा मिस कॉल आए थे. कोरोना लॉकडाउन की मार से काफी रोजगार-धंधे बंद हुए हैं. ऐसे में रोजगार के मुद्दे पर एक बार फिर नए सिरे से यूथ कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरने का बीड़ा उठाया है.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close