सरकारी योजनायें
Trending

गोबर धन योजना क्या है

गोबर धन योजना  क्या है

  • गोबर धन योजना के लाभ

  • गोबर धन योजना के उद्देश्य

  • गोबर धन योजना की पूरी जानकारी

  • भारत सरकार  का किसानो के लिए बहुत ही अच्छा निर्णय

प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार की गोबर धन योजना के बारे में कहा कि गोबर को भी कमाई का ज़रिया बनाना चाहिए.मोदी ने कहा कि उद्यमियों, विशेष रूप से ग्रामीणों से आग्रह किया कि वो आगे आएं. सेल्फ हेल्फ ग्रुप बनाकर, सहकारी समितियां बनाकर इस अवसर का पूरा लाभ उठाएं. बता दें कि समावेशी समाज निर्माण के लिए सरकार ने विकास के लिए 115 खास जिलों की पहचान की है. इन जिलों में स्वास्थ्य, शिक्षा, सिंचाई, ग्रामीण विद्युतीकरण, पेयजल, शौचालय में इंवेस्ट करके तय समय में विकास की गति को तेज किया जाएगा. वित्तमंत्री ने उम्मीद जताई है कि ये 115 जिले विकास के मॉडल साबित होंगे.

 

गोबर धन योजना के  आवश्यक दस्तावेज 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में सरकार की नई योजना ‘गोबर-धन’ का जिक्र किया और इसके बारे में कई जानकारी दी. बता दें कि सरकार ने इस योजना की घोषणा बजट 2018 में की थी. बजट में उस समय तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ग्रामीणों के जीवन को बेहतर बनाने की कोशिश के तहत इस योजना का जिक्र किया था. इस योजना के तहत गोबर और खेतों के बेकार या इस्तेमाल में न आने वाले उत्पादों को कम्पोस्ट, बायो-गैस और बायो-सीएनजी में बदल दिया जाएगा.

उन्होंने  बताया कि भारत में मवेशियों की आबादी पूरे विश्व में सबसे ज्यादा है. भारत में मवेशियों की आबादी लगभग 30 करोड़ है और गोबर का उत्पादन प्रतिदिन लगभग 30 लाख टन है. कुछ यूरोपीय देश और चीन पशुओं के गोबर और अन्य जैविक अपशिष्ट  का उपयोग ऊर्जा के उत्पादन के लिए करते हैं लेकिन भारत में इसकी पूर्ण क्षमता का उपयोग नहीं हो रहा था. ‘स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण’ के अंतर्गत अब इस दिशा में हम आगे बढ़ रहे हैं.

गोबर धन योजना की अधिक जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे

गोबर धन योजना

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close