टॉप न्यूज़

UNESC लाइव अपडेट में पीएम नरेंद्र मोदी का भाषण: -कहा- हमने आत्मनिर्भर भारत अभियान की शुरुआत की, कोरोना महामारी की लड़ाई को हमने जनआंदोलन बनाया

प्रधानमंत्री ने कहा- आज यूएन 193 देशों को साथ लाया है, इसके साथ ही यूएन से उम्मीदें भी बढ़ी हैं, कई चुनौतियां भी हैं

  • प्रधानमंत्री मोदी ने इससे पहले 2016 में परिषद की 70वीं सालगरिह पर भाषण दिया था
  • जून में ही भारत यूएन के सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) का अस्थाई सदस्य चुना गया था

 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के सत्र को संबोधित किया। उन्होंने कहा- इस साल हमने यूनाइडेट नेशंस की 75वीं वर्षगांठ मनाईं। भारत 50 फाउंडर मेंबर्स में से है, जो सेकंड वर्ल्ड वार के बाद बने थे। आज यूएन 193 देशों को साथ लाया है। इसके साथ ही यूएन से उम्मीदें भी बढ़ी हैं। कई चुनौतियां भी हैं।

 

पीएम मोदी संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवं सामाजिक परिषद (UNESC) के सत्र को संबोधित कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमने आत्मनिर्भर भारत अभियान की शुरुआत की.

 

ईसीओएसओसी सत्र के संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ आज की दुनिया में इसकी भूमिका और महत्ता के आकलन का अवसर है.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम एजेंडा 2030 को पूरा करने के लिए प्रयासरत हैं. हम विकासशील देशों की मदद कर रहे हैं.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले साल हमने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती 600,000 गांवों में पूर्ण स्वच्छता कवरेज प्राप्त करके मनाई. उन्होंने कहा कि पिछले 5 वर्षों में, हमने 10 करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण किया, जिसने हमारे ग्रामीण स्वच्छता को 38 फीसदी से 100 फीसदी तक सुधार दिया.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस साल हम संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं, संयुक्त राष्ट्र का इंसान की प्रगति में बड़ा योगदान है.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारा ध्येय सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्ववास है. पीएम मोदी संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवं सामाजिक परिषद (UNESC) के सत्र को संबोधित कर रहे हैं.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि COVID 19 के खिलाफ संयुक्त लड़ाई में हमने 150 से अधिक देशों में चिकित्सा और अन्य सहायता को पहुंचाए.

 

मोदी ने बताया कि विकास के रास्ते पर आगे बढ़ने के साथ-साथ हम प्रकृति के प्रति अपनी जिम्मेदारी को नहीं भूले हैं। हमने कार्बन उत्सर्जन रोकने में बहुत बड़ा काम किया है। 450 गीगावाट रिन्युएबल एनर्जी प्रोड्यूस करने का लक्ष्य रखा है। सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करने के लिए हमने सबसे बड़ा अभियान चलाया है।

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close