अनतर्राष्ट्र्य खबरें

लद्दाख में सेना की यूनिट की वापसी पर रोक,चीन पर एक्शन मोड में मोदी सरकार

देमचोक और पैंगॉन्ग लेक के आसपास के गांव खाली कराए जाएंगे

खास बातें

  • सीमा से सटे इलाकों में मोबाइल फोन बंद कर दिए हैं, यहां तक कि सेना के लैंडलाइन फोन भी बंद हैं
  • लेह सिटी के बाहर सेना के अलावा सभी मूवमेंट पर रोक, श्रीनगर-लेह हाईवे भी आम लोगों के लिए बंद

चीन ने हरकत की तो एक्शन लेने के आदेश

नई दिल्ली. हिंसक झड़प के बाद चीन से सटी 3400 किमी लंबी लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल को अलर्ट कर दिया गया है. सभी जगह फॉरवर्ड पोस्ट के कंपनी कमांडर को चीन की ओर से कोई हरकत होने पर एक्शन लेने के आदेश दिए गए हैं.

15 जून की घटना के बाद सेना ने लेह और बाकी सरहदों पर अपना मूवमेंट बढ़ा दिया है। इसके साथ ही लद्दाख से जो भी यूनिट्स पीस स्टेशन लौटने वाली थीं, उन्हें वहीं रुकने को कहा है। सेना ने लद्दाख के आसपास के इलाकों में तैनात अपनी यूनिट्स को लेह में कभी भी मूव करने के लिए तैयार रहने के आदेश दिए हैं। खासतौर पर कश्मीर और जम्मू में मौजूद यूनिट्स को किसी भी वक्त लेह जाने के ऑर्डर दिए जा सकते हैं।

पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर हुई हिंसक झड़प में 20 जवानों की शहादत के लिए भारत ने सीधे तौर पर चीन को जिम्मेदार ठहराया है. इस बीच मोदी सरकार भी एक्शन मोड में आ गई है. लद्दाख में सीमा से सटे गांव खाली करवाने की तैयारी शुरू हो गई है. सेना ने एहतियातन लोगों से गांव खाली करने को कहा है. देमचोक पैंगॉन्ग लेक के आसपास के इलाकों में मोबाइल फोन बंद कर दिए हैं. यहां तक कि सेना के लैंडलाइन फोन भी बंद कर दिए गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के साथ जारी तनाव पर 19 जून को सर्वदलीय बैठक भी बुलाई है.

नौसेना के जंगी जहाज भी तैनात होंगे, फाइटर जेट की तैनाती बढ़ाई गई
इसी बीच, मंगलवार रात को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और तीनों सेना प्रमुखों के बीच हुई बैठक में नौसेना को भी अपने युद्धपोत चीन से सटे इलाकों में तैनात करने के आदेश मिले हैं। सेना के अलावा चीन से सटी सीमाओं पर तैनात आईटीबीपी ने भी अपने सैनिकों को अलर्ट कर दिया है। वायुसेना ने हिमाचल और उत्तराखंड में अपने फॉरवर्ड बेस पर फाइटर जेट की तैनाती बढ़ा दी है।

जवानों-ऑफिसर्स की छुटि्टयां कैंसल
इसी बीच, सेना ने अपने ऑफिसर और जवानों की छुटि्टयां कैंसिल कर दी है। कोरोना के चलते जो ऑफिसर्स और जवान पहले से छुट्‌टी पर थे, उन्हें लॉकडाउन लगने पर लौटने से मना कर उनकी छुट्‌टी बढ़ा दी गई थी। अब सभी छुटि्टयों को कैंसिल कर दिया गया है।

 

ये भी पढ़े भारत चीन तनाव: पीएम मोदी ने चीन को चेताया-भारत को उकसाने पर निर्णायक जवाब दिया जाएगा, पीएम ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close