BREAKING NEWSटॉप न्यूज़सरकारी योजनायें

प्राइवेट ट्रेनों के लिए रेलवे की टाइम लाइन तैयार

पहली प्राइवेट ट्रेन 2023 तक, 2027 तक कैसी 151 ट्रेनें होगी-

प्राइवेट ट्रेनों के लिए रेलवे की टाइम लाइन तैयार

पहली प्राइवेट ट्रेन 2023 तक, 2027 तक कैसी 151 ट्रेनें होगी-

  • इस योजना से रेलवे को 30 हजार करोड रुपए के निवेश की उम्मीद

  • प्राइवेट ट्रेनों को भी रेलवे के ड्राइवर और गार्ड ही ऑपरेट करेंगे

देश में प्राइवेट ट्रेनों का पहला सेट 2023 तक पेश कर दिया जाएगा  | साल 2027 तक कुल 151 प्राइवेट ट्रेन सर्विस देश में लॉन्च हो जाएगी |
यह जानकारी रेलवे द्वारा प्राइवेट ट्रेनों की योजना को लेकर तैयार की गई टाइमलाइन से सामने आई है | रेलवे ने इस महीने की शुरुआत में देश की 109 जोड़ी रूठ 151 आधुनिक पैसेंजर प्राइवेट ट्रेन चलाने के लिए कंपनियों से प्रस्ताव मंगवाए थे |
इससे रेलवे को प्राइवेट सेक्टर की ओर से 30000 करोड रुपए के निवेश की उम्मीद है| रेलवे ने 2022-23 में 12 प्राइवेट ट्रेन पेश करने की योजना बनाई है| 2022-23 में 24, 2023-24 में 50 और 2025-26 में 44 प्राइवेट ट्रेन पेश की जाएगी ।
वित्त वर्ष 2026-27 तक 151 प्राइवेट ट्रेनें पेश की जाएगी । उम्मीद है कि इसके लिए टेंडर मार्च 2021 तक फाइनल कर लिया जाएगा। बोली की प्रक्रिया में सफल हुए कंपनियों का चयन 31 अप्रैल, 2021 तक कर लिए जाने की उम्मीद है  । जो कंपनी ग्रांस रेवेन्यू में सबसे ज्यादा शेयर कोट करेगी उसे प्रोजेक्ट दिया जाएगा ।

70% प्राइवेट ट्रेनों की मैन्युफैक्चरिंग भारत में होगी

 रेलवे ने बताया कि 70 फ़ीसदी प्राइवेट ट्रेनों की मैन्युफैक्चरिंग भारत में होगी। इन्हें अधिकतम 160 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड के हिसाब से डिजाइन किया जाएगा । रेलवे ने बताया कि 130 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पर यात्रा के समय में 10 से 15 फीसदी की बचत होगी | वही, 160 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पर यात्रा के समय में 30 फ़ीसदी की बचत होगी । इन ट्रेनों को भारतीय रेलवे के ड्राइवर और गार्ड ऑपरेट करेंगे ।
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close