अनतर्राष्ट्र्य खबरें

नेपाल:- इस्तीफे का है दबाव, पीएम ओली ने कैबिनेट की बैठक में मंत्रियों से पूछा- साफ बताओ, किसकी तरफ हो, देश और पार्टी मुश्किल में है

केपी शर्मा ओली की पार्टी में आंतरिक कलह चरम पर है. उन्होंने संकेत दिया कि पार्टी में जल्द ही विभाजन हो सकता है.

  • प्रधानमंत्री ओली ने मंत्रिमंडल के सहयोगियों से किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा
  • सोमवार को पार्टी की स्टैंडिंग कमेटी की बैठक होगी, इसमें ओली की किस्मत पर फैसला होगा

काठमांडू:- नेपाल की सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) टूट की कगार पर है। उसके अध्यक्ष और प्रधानमंत्री केपी ओली ने अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों को किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा है। ओली ने शनिवार शाम हुई कैबिनेट की आपात बैठक में अपने मंत्रियों से कहा कि वे साफ बताएं कि किसकी तरफ हैं? किसका समर्थन करेंगे? या उनकी सरकार के खिलाफ हैं, क्योंकि पार्टी और देश मुश्किल में हैं। यह जानकारी बैठक में मौजूद एक मंत्री ने दी। बैठक में हुई औपचारिक बातचीत का ब्योरा जारी नहीं किया गया।

ओली ने कहा कि पार्टी के कुछ नेता उन्हें हटाने की कोशिश कर रहे हैं। इसके साथ ही ये लोग राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी के खिलाफ महाभियोग चलाने की साजिश रच रहे हैं, क्योंकि उन्होंने मेरा समर्थन किया था। भंडारी और ओली के बीच बहुत अच्छे राजनीतिक संबंध हैं। ओली के समर्थन से, भंडारी 2015 के बाद से दो बार राष्ट्रपति बन चुकी हैं।

 

पार्टी के सामने गंभीर संकट- ओली

प्रधानमंत्री ने शनिवार को कहा, “अब, मुझे प्रधानमंत्री और पार्टी अध्यक्ष पद से हटाने के लिए साजिशें रची जा रही हैं.” उन्होंने कहा कि वह ऐसा होने नहीं देंगे. ओली ने कहा कि सत्ताधारी दल गंभीर संकट का सामना कर रहा है.

 

अखबार काठमांडू पोस्ट के मुताबिक, ओली की राष्ट्रपति पर महाभियोग चलाने की साजिश की टिप्पणी के बाद तीन पूर्व प्रधानमंत्री- पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’, माधव नेपाल और झालानाथ खनल- भंडारी से मिलने पहुंचे और स्पष्ट किया कि नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) के नेताओं द्वारा उन्हें पद से हटाने की कोशिश करने संबंधी अफवाहें असत्य हैं.

 

एनसीपी की 45 सदस्यीय शक्तिशाली स्थायी समिति की अहम बैठक में शनिवार को ओली के राजनीतिक भविष्य के बारे में फैसला लिया जाना था लेकिन इसे सोमवार तक टाल दिया गया जिससे शीर्ष नेतृत्व को उनके काम करने के तरीकों और भारत विरोधी बयानों पर मतभेदों को दूर करने के लिये और समय दिया जा सके

 

पार्टी की बैठक सोमवार 11 बजे से होगी
बता दें, नेपाल की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी की स्टैंडिंग कमेटी की निर्धारित बैठक सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई. इस बैठक में पार्टी की एकता और ओली के ​भविष्य पर चर्चा होनी थी. प्रेस एडवाइजर बिष्णु सपकोटा दहल ने कहा, स्टैंडिंग कमेटी की बैठक सोमवार की सुबह 11 बजे तक के लिए टाल दी गई है. शुक्रवार को प्रधानमंत्री केपी ओली और पुष्प कमल दहल के बीच शुक्रवार को बातचीत विफल रहने के बाद दोनों में इस बात की सहमति बनी थी कि स्टैंडिंग कमेटी की बैठक से पहले वे दोनों शनिवार को फिर से बैठेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close