व्यापार
Trending

भारतीय सामान हमारा अभिमान- चीन का बहिष्कार करे (BoycottChina)

Boycott of China (LOCAL FOR VOCAL)

भारतीय सामान हमारा अभिमान- चीन का बहिष्कार (BoycottChina)

  • कैट ने शुरू किया अभियान – भारतीय सामान हमारा अभिमान 

  • 7 करोड़ दुकानदारो ने की पहल 

  • LAC विवाद को लेकर बहिष्कार

चीन ने पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात को चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में कर्नल संतोष बाबू सहित 20 जवान शहीद हो गए।

पूर्वी लद्दाख की गलवां घाटी में चीन ने जो किया, उसके बाद देश के व्यापारियों ने पड़ोसी मुल्क को मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी की है. ट्रेडर्स ने चीन को कारोबार के मोर्चे पर करारी शिकस्त देने के लिए एक मेगा एक्शन प्लान तैयार किया. इसके जरिए दिसंबर 2021 तक चीन से इंपोर्ट को 1 लाख करोड़ रुपये घटाने की ​तैयारी है. ट्रेडर्स पहले से ही आत्मनिर्भर भारत और वोकल फॉर लोकल की दिशा में चीनी उत्पादों के बहिष्कार का कैंपेन चला रहे थे. अब सोमवार रात को चीन और भारत की सेना के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद ट्रेडर्स ने इस कैंपेन को और तेज कर दिया है और भारतीय बाजार से चीन के प्रॉडक्ट्स को बाहर निकालने के लिए कमर कस ली है.

बता दें के कि भारत और चीन के ​बीच की झड़प में भारत के 20 जवानों के शहीद होने की खबर है. कई घायल भी हैं. जानकारी के मुताबिक चीन की ओर से भी करीब 43 सैनि​कों के हताहत होने की खबर है, लेकिन इसकी पुष्टि अभी चीन की ओर से नहीं हुई है. ​इस झगड़े की शुरुआत चीन की तरफ से हुई, जब बातचीत के बाद उसे पीछे हटाया जा रहा था.

  • बॉयकॉट चाइना को लेकर व्यापारी काफी उत्साहित

व्यापारियों के संगठन कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस हिंदी ऑनलाइन को बताया कि बॉयकॉट चाइना के लिए ट्रेडर्स की ओर से कैंपेनिंग काफी तेज हो चुकी है. इसे लेकर व्यापारी भी काफी उत्साहित हैं. उन्होंने कहा कि पूरे देश में सभी व्यापारियों से संपर्क कर बॉयकॉट चाइना कैंपेन को आगे बढ़ाया जा रहा है. हाल ही में कैट ने अपने राष्ट्रीय अभियान “भारतीय सामान-हमारा अभिमान” के अंतर्गत कमोडिटी की 450 से अधिक कैटेगरी की वृहद सूची जारी की. इस सूची में 3000 से अधिक ऐसे उत्पाद हैं, जो चीन में निर्मित होकर भारत में आयात होते हैं जबकि भारत में भी इनका निर्माण होता है. इनके बहिष्कार का आह्वान कैट ने अपने अभियान के प्रथम चरण में किया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close