BREAKING NEWSअनतर्राष्ट्र्य खबरें

भारत ने संयुक्त राष्ट्र में खोली पाकिस्तान के पांच बड़े झूठों की पोल

भारत ने संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की झूठ का पर्दाफाश किया। भारत ने पाकिस्तान के उस बयान को झूठा करार दिया, जिसमें कहा गया था कि उसके दूत मुनीर अकरम ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बात रखी थी, जबकि सत्र गैर-सदस्यों के लिए खुला नहीं था।

भारतीय मिशन ने पाकिस्तान के 5 बड़े झूठ का खुलासा किया

– पहला झूठ: पाकिस्तान ने दावा किया कि वह दशकों से सीमापार से फैलााए जा रहे आतंकवाद से पीड़ित है। भारत ने इस दावे को खारिज करते हुए कहा, झूठ को सौ बार दोहराने से वह सच नहीं हो जाता। भारत के खिलाफ आतंकवाद का सबसे बड़ा प्रायोजक पाकिस्तान ही है। पाकिस्तान खुद को भारत की ओर से प्रायोजित आतंकवाद का शिकार बताने का ढोंग रच रहा है। इतना ही नहीं भारत ने कहा, इमरान खान ने खुद माना था कि देश में 40 से 50 हजार आतंकी मौजूद हैं।

दूसरा झूठ: भारतीय मिशन ने कहा, पाकिस्तान ने अलकायदा को अपने इलाके से हटाने का दावा किया है। लेकिन उन्हें ये नहीं पता कि ओसामा बिन लादेन उनके ही देश में छिपा था। अमेरिका ने उसे पाकिस्तान में खोजा था। इतना ही नहीं पाकिस्तान के पीएम लादेन को शहीद बताते हैं।

तीसरा झूठ: भारत की ओर से कहा गया कि पाकिस्तान के उस दावे से हंसी आती है, जिसमें कहा गया है कि भारत ने उसके खिलाफ भाड़े के आतंकी रखे हैं। यह दावा ऐसे देश का है, जो आतंकवाद का सबसे बड़ा प्रायोजक है। इससे पूरी दुनिया पीढ़ित है।

चौथा झूठ:  भारतीय मिशन ने 1267 प्रतिबंधों की लिस्ट में भारतीयों के शामिल होने के पाकिस्तान के दावे को खारिज कर दिया। भारत ने कहा, 1267 प्रतिबंधों की लिस्ट सबके सामने है। इसे दुनिया देख सकती है। इनमें कोई भी व्यक्ति नहीं है। 1267 समिति सबूतों के आधार पर काम करती है, न कि ध्यान भटकाने वाले आरोपों के आधार पर।

पांचवां झूठ : भारत ने कहा, पाकिस्तान हमारे अंदरूनी मामलों में हास्यास्पद बातें करता है। पाकिस्तान में अल्पसंख्यक आबादी 1947 की तुलना में कम होकर सिर्फ 3% पर आ गई है। पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर को लेकर झूठे आरोप लगाता है।

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close