अनतर्राष्ट्र्य खबरें

इंडिया ग्लोबल वीक 2020: पीएम मोदी ने कहा- इतिहास बताता है कि भारत हर चुनौती से जीता

पीएम ने कहा- महामारी से निपटने के साथ ही हमारा ध्यान देश की अर्थव्यवस्था के स्वास्थ्य पर भी

  • प्रधानमंत्री मोदी इस प्रोग्राम में वीडियो लिंक के जरिए शामिल हुए
  • मोदी ने कहा- महामारी के दौर में दुनिया ने नमस्ते का महत्व भी समझा

नई दिल्ली: यूके बेस्ड इंडिया ग्लोबल वीक 2020 की तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय कॉफ्रेंस आज से शुरू हो गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस कॉफ्रेंस का वर्चुअल उद्घाटन किया और संबोधित भी किया. पीएम मोदी ने कहा, “एक तरफ भारत लोगों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर वैश्विक महामारी के साथ लड़ रहा है, दूसरी ओर हमारा इतना ही ध्यान देश की अर्थव्यवस्था के स्वास्थ्य पर भी है.”

 

पीएम मोदी ने कहा, “महामारी ने एक बार फिर दिखाया है कि भारत की दवा इंडस्ट्री सिर्फ भारत के लिए ही संपदा नहीं है बल्कि पूरी दुनिया के लिए भी है. भारत ने दवाईयों की लागत कम करने में अग्रणी भूमिका निभाई है, खासतौर से विकासशील देशों के लिए. ‘आत्मनिर्भर भारत’ का मतलब स्वयं तक सीमित होना या दुनिया के लिए बंद हो जाना नहीं है. इसका मतलब ‘सेल्फ सस्टेनिंग’ और ‘सेल्फ जेनरेटिंग’ होना है

 

भारत टैलेंट का पावरहाउस
मोदी ने अपने भाषण में कहा, “भारत टैलेंट का पावरहाउस है। वो दुनिया के विकास और भलाई में योगदान देता आया है और देना चाहता है। हमारा देश आगे बढ़ना चाहता है। भारतीय नैचुरल रिफॉर्मर हैं। हम हर चुनौती का मुकाबला करते हैं। फिर चाहे वो सोशल हो या इकोनॉमिक। आज हम महामारी के खिलाफ पूरी ताकत से जंग लड़ रहे हैं। लेकिन, हम ये भी चाहते हैं कि विकास और पर्यावरण की रक्षा एकसाथ हो।”

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस पर फोकस
प्रधानमंत्री ने आगे कहा, “भारत में धरती को माता कहा जाता है, हम उसके बच्चे हैं। हम ईज ऑफ डूइंग बिजनेस पर काम कर रहे हैं। इस से जुड़े हर तरह के सुधार किए हैं और इन्हें आगे बढ़ा रहे हैं। महामारी के दौर में हमने लोगों को सुविधाएं दीं। हमने रिलीफ पैकेज जारी किया। हम चाहते हैं थे एक-एक पैसा जरूरतमंद तक पहुंचे। टेक्नोलॉजी ये जरिए ये संभव भी हुआ। हम लाखों लोगों को रोजगार भी दे रहे हैं। इस ग्रामीण क्षेत्रों को मदद मिलेगी।”

ग्लोबल कंपनियों से अपील
मोदी ने आगे कहा, “हम ग्लोबल कंपनियों से अपील करते हैं कि वो भारत में निवेश के लिए आगे आएं। यहां प्रतिभा और अवसरों का खजाना है। एग्रीकल्चर सेक्टर में इन्वेस्टमेंट की काफी संभावनाएं हैं। एमएसएमई में संभावनाएं हैं। डिफेंस और स्पेस सेक्टर में भी हमने रिफॉर्म किए हैं। इससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। टेक्नोलॉजी के मामले में भारत बेहद ताकतवर है।”

फार्मा सेक्टर आगे बढ़ रहा है
मुश्किल दौर में फार्मा सेक्टर का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, “महामारी से सामने आया कि भारत का फार्मा सेक्टर कितना बेहतर प्रदर्शन कर सकता है। हम सस्ती और क्वॉलिटी की दवाएं बना सकते हैं। वैक्सीन के मामले में भी यही होगा। इस मामले में हम योगदान देने तैयार हैं। इससे विकासशील देशों को मदद मिलेगी। आत्मनिर्भर भारत से सिर्फ घरेलू लोगों को नहीं बल्कि दुनिया को भी मदद मिलेगी। महामारी के दौर में हमारे अभिवादन के तरीके नमस्ते को ग्लोबल तौर पर स्वीकार किया गया। महामारी ने इसका महत्व बताया। भारत दुनिया में विकास और समृद्धि के मापदंड तय कर रहा है।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close