अनतर्राष्ट्र्य खबरें

भारत चीन तनाव: पीएम मोदी ने चीन को चेताया-भारत को उकसाने पर निर्णायक जवाब दिया जाएगा, पीएम ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

जल्द ही कुछ बड़ा होने वाला है?

  • खास बातें

      • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक 19 जून को बुलाई
      • भारत और चीन के बीच जारी तनाव गम्भीर
      • सर्वदलीय बैठक में होगा देश की राजनीति का निर्धारण
      • चीन विवाद पर पीएम मोदी का पहला बयान
      • शहीद जवानों को दी पीएम ने श्रद्धांजलि
      • पीएम ने कहा- जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

भारत और चीन के बीच जारी तनाव पर गहमागहमी तेज हो गयी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक बुलायी है. ये 19 जून को बुलाई गयी है इसलिये इसका महत्व और बढ़ जाता है क्योंकि इसके ठीक बाद 21 जून को विश्व योग दिवस के मौके पर पीएम मोदी राष्ट्र को संबोधित करेंगे.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को आश्वस्त किया कि भारत किसी भी तरह से अपनी क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता के साथ समझौता नहीं होने देगा. पीएम मोदी ने यह भी कहा कि हम अपनी जमीन का एक इंच और एक पत्थर तक बचाएंगे. प्रधानमंत्री ने कहा कि हम शांतिप्रिय देश हैं और यदि किसी ने हमें उकसाया को जवाब देने में सक्षम भी हैं.

भारत और चीन के विवाद पर पीएम मोदी ने कही की 10 बड़ी बाते

1- पीएम मोदी ने कहा कि मैं देश को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. भारत अपनी अखंडता से समझौता नहीं करेगा.

2- पीएम मोदी ने कहा कि हमने देश की अखंडता और संप्रभुता की रक्षा करने में अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया है, अपनी क्षमताओं को साबित किया है. त्याग और तितिक्षा हमारे राष्ट्रीय चरित्र का हिस्सा हैं, लेकिन साथ ही विक्रम और वीरता भी उतना ही हमारे देश के चरित्र का हिस्सा हैं.

3- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत शांति चाहता है लेकिन अगर उकसाया गया है तो वह जवाब देने में सक्षम है

4- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूरा देश उन लोगों के परिवारों के साथ है जिन्होंने देश के लिए अपना बलिदान दिया.

5- पीएम मोदी ने कहा कि भारत अपनी अखंडता और संप्रभुता का ध्यान रखते हुए चाहे स्थिति कुछ भी हो, परिस्थिति कुछ भी हो, भारत पूरी दृढ़ता से देश की एक एक इंच जमीन की, देश के स्वाभिमान की रक्षा करेगा.

6- पीएम ने कहा कि इतिहास भी इस बात का गवाह है कि हमने विश्व में शांति फैलाई, पड़ोसियों के साथ दोस्ताना तरीके से काम किया. हमेशा उनके विकास और कल्याण की कामना की है. भारत सांस्कृतिक रूप से एक शांति प्रिय देश है. हमारा इतिहास शांति का रहा है. भारत का वैचारिक मंत्र ही रहा है- लोकाः समस्ताः सुखिनों भवन्तु.

7- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब भी ऐसी कोई स्थिति बने, हमने भारत को एकजुट रखने के लिए अपनी ताकत दिखाई है. हमने कोशिश की है कि विवादों के बीच मतभेद न आएं.

8. पीएम ने कहा कि हमने हमेशा यह देखने की कोशिश की है कि मतभेद विवादों में न बदलें. हम कभी किसी को उकसाते नहीं हैं लेकिन हम अपने देश की अखंडता और संप्रभुता पर कोई समझौता नहीं करते हैं.

9. पीएम मोदी ने कहा कि भारत को लेकर किसी को भी किसी तरह का संदेह या संशय नहीं होना चाहिए.

10. पीएम मोदी ने कहा कि देश को इस बात का गर्व होगा की हमारे सैनिक मारते मारते मरे हैं. मेरा आप सभी से आग्रह है कि हम दो मिनट का मौन रख कर इन सपूतों को श्रद्धांजलि दें.

ये भी पढ़े: गलवान घाटी की झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद, चीन के 43 सैनिक मारे गए

Related Articles

Back to top button
Close