व्यापार
Trending

अगर आपकी सैलरी ICICI बैंक मे आती है तो आपके खाते में 3 गुना सैलरी आ सकती है जानिए कैसे?

icici bank account salary

अगर आपकी सैलरी ICICI बैंक मे आती है तो आपके खाते में 3 गुना सैलरी  आ सकती है जानिए कैसे?

  • आईसीआईसीआई बैंक खाताधारक वेतन

  • वेतन खाता धारक को मिल सकती है 3 गुना सैलरी

अगर आपकी सैलरी ICICI बैंक में आती है, तो आपके लिए इस बैंक ने एक नई सुविधा शुरू की है. बैंक का कहना है कि कोरोना संकट के बीच ICICI बैंक के खाते में सैलरी पाने वाले ग्राहकों को इससे बड़ी राहत मिलेगी.

दरअसल ICICI बैंक ने इंस्टाफ्लैक्सी कैश (Instaflexi cash) नाम से एक ओवरड्राफ्ट की सुविधा लॉन्च की है. इसका लाभ
उन ग्राहकों को मिलेगा, जिनका सैलरी अकाउंट ICICI बैंक में है. बैंक का कहना है कि अप्लाई से 48 घंटे के अंदर अमाउंट ग्राहक के खाते में ट्रांसफर कर दिया जाता है.

इस सुविधा का लाभ लेने के लिए ग्राहकों को बैंक की शाखा में भी नहीं जाना होगा, बल्कि इंटरनेट पर ही इसे एक्टिवेट किया जा सकता है. इस सुविधा के तहत ग्राहक अपनी सैलरी की करीब तीन गुनी राशि तक का ओवरड्राफ्ट ले सकते हैं.

  • कितना लगेगा ब्याज?ग्राहक जितने दिन तक ओवरड्रफ्ट की राशि का उपयोग करेंगे, उतने ही दिन का ब्याज देना होगा. यही नहीं, ओवरड्राफ्ट में से ग्राहक जितने पैसे निकालेंगे, उतने का ही ब्याज भरना पड़ेगा. ग्राहक कभी भी बिना किसी क्लोजर चार्ज के पैसे लौटा सकते हैं. बैंक ने इस लोन पर 12 फीसदी से लेकर 14 फीसदी तक सालाना ब्याज दर तय किया है.
  • कैसे करें अप्लाई?

सबसे पहले ICICI बैंक के ग्राहक internet banking लॉग इन करें. उसके बाद OFFERS सेक्शन में जाएं. अगर डेस्कटॉप पर लॉग इन कर रहे हैं तो फिर MY LOAN पर क्लिक करें. जहां instaflexi cash का ऑप्शन दिखाई देगा.

instaflexi cash ऑप्शन पर क्लिक करते ही ग्राहक को पता चल जाएगा कि उन्हें बैंक की तरह से कितनी ओवरड्राफ्ट की राशि मिल सकती है. वहीं पर ग्राहक क्लिक करके ब्याज दर और प्रोसेसिंग फीस और EMI के बारे में जानकारी ले सकते हैं.

  • फीस और चार्ज के बारे में

    ICICI बैंक के मुताबिक instaflexi cash पर प्रोसेसिंस फीस न्यूनतम 1999 रुपये और उसपर जीएसटी जोड़कर वसूला जाएगा. प्रोसेसिंग फीस ओवरड्राफ्ट के आधार पर तय होगा. ओवरड्राफ्ट की सुविधा एक साल के लिए होगी. इसके बाद जारी रखने के लिए रिन्यू कराना होगा, जिसमें ( 1,999 + GST) रुपये देना होगा.

उदाहरण के तौर पर अगर किसी की सैलरी 1 लाख रुपये महीने आईसीआईसीआई बैंक में आती है, उसे बैंक के तरह से 3 लाख रुपये का तक ओवरड्राफ्ट मिलता है, अगर ग्राहक बैंक के तीन लाख रुपये में से केवल एक लाख का इस्तेमाल 15 दिन तक करता है.

बैंक के नियम के मुताबिक अगर ब्याज दर 12.20 फीसदी सालाना है, तो फिर 1 लाख रुपये इस्तेमाल पर ग्राहक को 15 दिन के लिए 501.40 रुपये ब्याज भरना पड़ेगा. अगर एक महीने तक इस्तेमाल करते हैं तो फिर ब्याज 1002.80 रुपये भरना होगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close