BREAKING NEWS
Trending

यदि आपके बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए पैसे कम पड़ रहे हैं तो ऐसे ले सकते हैं कम ब्याज दर पर लोन

वर्तमान में उच्च शिक्षा समय के साथ फीस भी  महंगी होती जा रही है एक जाने-माने सरकारी मैनेजमेंट कॉलेज का उदाहरण ले कर देखें तो वर्ष

 

वर्तमान में उच्च शिक्षा समय के साथ फीस भी  महंगी होती जा रही है एक जाने-माने सरकारी मैनेजमेंट कॉलेज का उदाहरण ले कर देखें तो वर्ष

2004 में  एमबीए की फीस करीब 2 लाख 50 हजार हुआ करती थी जो कि वर्तमान में 2019 की फीस देखी जाए तो 22 लाख 50

हज़ार हो गई है यानी व्यक्ति की आय में इतनी प्रतिशत की वृद्धि नहीं हुई जिससे कई गुना ज्यादा फीस में वृद्धि हुई है

अगर इस कोर्स की फीस बढ़ती गई तो आने वाले 10 साल में एक करोड़ को पार कर जाएगी और इतनी बड़ी रकम जमा कराना आसान नहीं
है और जहां बचत कम पड़ती है वहां एजुकेशन लोन काम में लिया जाता है आइए आज के लेख में देखेंगे कि यह लोन कैसे लें और कितना
खर्चा आएगा |
एजुकेशन लोन लेने के लिए प्राथमिक आवेदक छात्र अथवा छात्रा खुद होते हैं बैंक से आवेदक अर्थात को- एप्लीकेंट के रूप में माता-पिता
भाई-बहन स्पाउस या अभिभावक की मांग कर सकता है आमतौर पर यह लोन किसी मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थान से पढ़ाई करने पर ही
दिया जाता है जिसमें कि यूजीसी ,एनसीआईटी या आईएमसी द्वारा approved कॉलेज और विश्वविद्यालयों से डिग्री डिप्लोमा अर्थात अन्य कोर्स
करने पर ही लोन दिए जाते हैं इसी के साथ विदेश में पढ़ाई के लिए भी लोन मिलता है इसके लिए आवेदक को लोन देने वाली संस्था की नियम
व शर्तें पूरी करनी होती है इनमें आयु संबंधित शर्ते भी निर्धारित की गई है उदाहरण के लिए एक निजी बैंक से 16 से 35 वर्ष की उम्र के विद्यार्थी
ही लोन ले सकते हैं लेकिन ज्यादातर सरकारी बैंक उम्र पर पाबंदी नहीं लगाते हैं एजुकेशन लोन , ट्यूशन फीस, हॉस्टल फीस, लाइब्रेरी
फीस ,किताबों का खर्चा और वाहन की लागत को पूरा कर सकते हैं पढ़ाई संबंधित लैपटॉप जैसे उपकरण आदि का खर्चा और विदेश में
एडमिशन मिलने पर आने जाने का खर्चा भी लोगों द्वारा चुकाया जा सकता है आपको अपनी पॉलिसी के अनुसार लोन देता है उदाहरण के
लिए एक बड़ा सरकारी बैंक आपको देश में कहीं भी कोर्स के लिए आमतौर पर 20 लाख रुपए तक का लोन दे सकता है अगर आपका
आईआईटी या आई एम एस ई बड़ी कॉलेजों में सिलेक्शन हुआ है तो यही बैंक आपको फाइनेंस सपोर्ट के लिए लोन देंगे विदेश पढ़ने गए तो
बैंक एक करोड़ पचास लाख रुपए तक का भी लोन देता है l

लोन कब तक चुकाना पड़ता है ?

लोन चुकाने के लिए आपको बैंक 15 साल का समय देता है इसके अलावा 12 महीने की मोहलत भी मिलती है ताकि पढ़ाई के बाद नौकरी ढूंढ पाए l
इन 12 महीने में आप को किस नहीं देनी पड़ेगी लेकिन लोन पर ब्याज जुड़ता रहेगा आप चाहे तो नियमित रूप से ब्याज चुका सकते हैं ताकि
लोन बड़े नहीं कुछ परिस्थितियों में उधार करता पहला कोर्स खत्म होते ही दूसरा को शुरू करना चाहेंगे ऐसी स्थितियों में कुछ बैंक आफ
कोलोन दूसरे कोर्ट के बाद चुकाने को भी कहेंगे l

लोन पास कराने में कितना खर्चा आएगा ?

आमतौर पर ₹750000 तक का लोन लेने पर आपको कोई जमानत के तौर पर कुछ नहीं देना पड़ेगा इससे ज्यादा यदि आप कोई लोन लेते
हो तो कोई संपत्ति जैसे फिक्स डिपाजिट घर या जमीन के कागजों को बैंक के पास गिरवी रखना होगा इसके अलावा ₹400000 तक के लोन
पर ज्यादातर बैंक आपसे मार्जिन नहीं मांगेंगे मान लीजिए कोर्स का खर्चा ₹300000 हैं तो 100% लोन मिल जाएगा लेकिन अगर खर्च
₹500000 है तो बैंक चाहेगी कि आप से कम से कम पांच परसेंट हिस्सा खुद चुका है और बाकी बैंक से लोन ले लोन पर प्रोसेसिंग फीस भी
लगेगी जो हर बैंक अपने हिसाब से तय करता है l

एजुकेशन लोन पर कितनी इनकम टैक्स में छूट ली जा सकती है ?

आयकर अधिनियम धारा 80 के तहत एजुकेशन लोन पर चुकाए गए ब्याज पर टैक्स में छूट मिलती है अगर लोन आप को- एप्लीकेंट हैं तो यह
छूट आपको भी मिल सकती है हालांकि आयकर में यह छूट लोन चुकाना शुरू करने से 8 साल तक ही मिलती है अगर लोन अवधि 8 साल से
ज्यादा है तो आगे के सालों में टैक्स में छूट नहीं मिलेगी l

 

ऑनलाइन एजुकेशन के लिए भी मिलता है स्किल लोन ?

आजकल ऑनलाइन कोर्स ऑफ वोकेशनल ट्रेनिंग का भी दौर चला हुआ है जिसके लिए आप एक स्पेशल शिक्षा लोन ले सकते हैं जिन्हें कई
बैंक स्किन लोन कहते हैं यह लोन उन कोर्स के लिए है जो आप कुछ दिन या महीनों मैं ही पूरा कर लेते हैं उदाहरण के लिए एक सरकारी बैंक
आपको ₹5000 से लेकर ₹150000 तक का लोन बिना किसी जमानत के तौर पर दे सकता है इस तरह के लोन की दरें पर्सनल लोन से थोड़ी
ही कम होती है l
एजुकेशन लोन पर कौन से बैंक कितनी ब्याज दर लेते हैं ?
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close