BREAKING NEWSLIFESTYLE

बीमारियों से बचना है तो मानसून में भूल कर भी ना करें ये गलतियां..

बारिश के मौसम में रहना है स्वस्थ तो करें यह काम..

मॉनसून में ना करें ये गलतियां

खास बातें

  • मॉनसून में हमें इम्यूनिटी को बूस्ट करने वाला फूड खाना चाहिए
  • इस मौसम में लोगों को हमेशा उबालकर ही पानी पीना चाहिए
बीमारियों से रहना है दूर तो मॉनसून में भूलकर भी ना करें ये गलतियां

गर्मी का मौसम जाने के बाद मॉनसून ने दस्तक दे दी है. मॉनसून यानी बारिश का महीना जितना खूबसूरत होता है, इसमें संक्रामक रोगों के फैलने का खतरा भी उतना ही ज्यादा होता है. इस मौसम में आपको खाने-पीने की चीजों को लेकर जरा भी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए. जानी-मानी हेल्थ एक्सपर्ट डॉक्टर प्रीति नंदा ने मॉनसून में लोगों को खाने-पीने में सावधानी बरतने की सलाह दी है.

1. एक्सपर्ट की सलाह है कि इस मौसम में लोगों को हमेशा उबालकर ही पानी पीना चाहिए. ऐसा करने से पानी में मौजूद बैक्टीरिया और रोगाणु नष्ट हो जाते हैं. इसके अलावा रोजाना सुबह गुनगुने पानी में नींबू डालकर पीने से शरीर से हानिकारक विषाणु शरीर से बाहर आते हैं.

2. मॉनसून के वक्त हमें खाने में नमक कम या स्वादानुसार ही रखना चाहिए. शरीर में नमक सोडियम की मात्रा को बढ़ाने का काम करता है, जो आगे चलकर हाई ब्लड प्रेशर का कारण भी बन सकता है. हाइपरटेंशन, कार्डियोवस्क्यूलर डिसीज और डायबिटीज के रोगियों को भी खाने में नमक हिसाब से लेना चाहिए.

3. इस मौसम में सिर्फ सीजनल फलों का ही सेवन करना चाहिए. बारिश के मौसम में आप जामुन, पपीता, बेर, सेब, अनार, आड़ू और नाशपाती जैसे फलों को खा सकते हैं. इन फलों से मिलने वाला न्यूट्रीशन शरीर को इंफेक्शन, एलर्जी और सामान्य रोगों से दूर रखता है.

4. मॉनसून के वक्त हमें डीप फ्राय फूड खाने से सख्त परहेज करना चाहिए. इस मौसम में समोसा, ब्रेड पकौड़ा या कचौड़ी जैसी जीजों को ना खाएं. मॉनसून के वक्त हमारे शरीर की पाचन क्रिया सुस्त पड़ जाती है, जिसे ऐसा खाना पचाने में काफी मु्श्किल होती है.

5. मॉनसून में हमें इम्यूनिटी को बूस्ट करने वाला फूड खाना चाहिए. इसमें आपको कद्दू, ड्राय फ्रूट्स, वेजिटेबल सूप, चुकंदर और टोफु जैसी चीजें खानी चाहिए. इसके अलावा रोजाना 7-8 घंटे की पर्याप्त नींद लेनी चाहिए.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close