BREAKING NEWS

ऐसे पुजा करने से माँ लक्ष्मी होती है नाराज, यह है सही पूरा विधि

Goddess Lakshmi is offended by doing such puja, this is the right method

शुक्रवार (Friday) की शाम को मां लक्ष्मी (Maa Lakshmi) की पूजा की जाती है. ऐसी मान्यता है कि शुक्रवार को विधिवत पूजन से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और जातकों पर धन वर्षा करती हैं. घर में सुख-शांति और समृद्धि बनाए रखने के लिए लोग शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी की पूजा करते हैं.

कहते हैं कि मां लक्ष्मी की पूजा करने से पैसों (Money) की कमी कभी नहीं होती है. हालांकि कई बार ऐसा भी होता है जब काफी पूजा-अर्चना करने के बाद भी घर में बरकत नहीं हो पाती है. अगर आप भी चाहते हैं कि मां लक्ष्मी की कृपा से आपके घर में आर्थिक परेशानी कभी न हो तो शुक्रवार को इस विधि से मां लक्ष्मी की पूजा करें.

पूजन विधि

-घर में ऐसी तस्वीर लगाएं जिसमें मां लक्ष्मी के हाथों से धन गिर रहा हो. अगर आपके हाथों में पैसा नहीं रुकता और बहुत ज्यादा खर्च होता है तो ऐसी तस्वीर लगाएं जिसमें मां लक्ष्मी खड़ी हों और उनके हाथों से धन गिर रहा हो.

-मां की तस्वीर के सामने दीया जरूर जलाएं. मां लक्ष्मी के सामने हमेशा घी का दीया ही जलाएं.

-मां लक्ष्मी को इत्र चढ़ाएं और उसी इत्र का नियमित इस्तेमाल करें.

-अगर बेवजह धन ज्यादा खर्च हो रहा है तो मां के चरणों में हर दिन एक रुपये का सिक्का अर्पित करें और उसे जमा कर महीने के अंत में किसी सौभाग्य की धनी स्त्री को दे दें.

अगर आपको अक्सर धन की परेशानियों का सामना करना पड़ता है तो संभव है कि आप भी इनमें से कोई गलती जरूर कर रहे होंगे जिससे देवी लक्ष्मी आपसे नाराज हैं.

-जिन घरों में पूजा का दीपक फूंक मारकर बुझाया जाता है वहां मां लक्ष्मी नहीं ठहरती हैं.

-अगर आप टूटी हुई कंघी से बाल संवारते हैं तो यह धन के लिए अपशगुन माना जाता है.

-रात में बिना पैर धोए सोते हैं या गीले पैर ही सोने की आदत है तो यह धन के लिए अच्छा शगुन नहीं है.

-अगर आप रात के जूठे बर्तनों को घर में रखे रहते हैं और उसे सुबह साफ करते हैं तो इस आदत को बदलें. ऐसा करने से घर में लक्ष्मी नहीं ठहरती हैं.

-अगर आपको नाखून चबाने या दांतों से काटने की आदत है तो यह भी धन के लिए अच्छा नहीं है. ऐसी आदत से आपका शरीर हमेशा जूठा होता रहता है जिससे लक्ष्मी मां नाराज होती हैं.

-जिन घरों में सूर्यास्त के बाद झाड़ू लगाया जाता है वहां लक्ष्मी रहना पसंद नहीं करती हैं.

-शास्त्रों में बताया गया है कि जिन घरों में पितृपक्ष में पितरों का श्राद्ध नहीं किया जाता है वहां लक्ष्मी नहीं रुकती.

-जिन घरों में नियमित शंख की ध्वनि नहीं होती और देवी-देवताओं के बारे में अपशब्द कहे जाते हैं वहां लक्ष्मी का कभी वास नहीं होता है.
( इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. RajasthanTopnews.Com  इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close