BREAKING NEWSभारत

गणेश चतुर्थी 2020: गणेश चतुर्थी इस बार बन रहा दुरुधरा महायोग, जानें इस दुलर्भ संयोग का किन राशियों पर क्या है प्रभाव?

इस बार गणेश चतुर्थी के समय दुरुधरा महायोग है. यह दुर्लभ संयोग सैकड़ों साल बाद बन रहा है. पढ़ें इस दुलर्भ संयोग का किन राशियों पर क्या है प्रभाव?

आज पूरे देश में गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जा रहा है. इस बार चतुर्थी तिथि 21 अगस्त दिन शुक्रवार की रात 11 बजकर 02 मिनट से 22 अगस्त 2020 दिन शनिवार को शाम 07 बजकर 57 मिनट तक है. शास्त्रों का मत है कि सभी प्रकार के कष्टों के हरने वाले {विघ्नहर्ता} श्री गणेश भगवान का जन्म भाद्रपद के शुक्ल पक्ष के चतुर्थी तिथि को हुआ था. इसी उपलक्ष्य में इस तिथि को श्री गणेश के जन्मोत्सव या गणेशोत्सव के रूप में मनाते हैं. इसी लिए इसे गणेश चतुर्थी या विनायक चतुर्थी भी कहते हैं.

 

गणेश चतुर्थी हर साल भाद्रपक्ष के शुक्ल पक्ष के चतुर्थी तिथि को मनाई जाती है. भगवान गणेश का पूजन और गणेशोत्सव 10 दिनों तक चलता है. दसवें दिन अर्थात चतुर्दशी तिथि को भगवान की मूर्ति का विसर्जन करते हैं. अर्थात श्री गणेश भगवान का पूजन चतुर्थी तिथि से चतुर्दशी तिथि तक होती है.

 

दुरुधरा महायोग कब बनता है?

 

इस बार गणेश चतुर्थी के समय दुरुधरा महायोग भी है. दुरुधरा महायोग तब बनता है जब कुंडली में चन्द्रमा जिस भाव में होते है, उसके दूसरे व 12वें भाव में सूर्य को छोड़कर अन्य ग्रह आते हैं. इस बार की गणेश चतुर्थी पर चन्द्रमा तुला राशि में रहेंगे. वहीं बुध, गुरु, शुक्र 12वें भाव व मंगल तथा शनि द्वितीय भाव में रहेंगे. इस प्रकार पांच ग्रहों से दुरुधरा योग बनेगा. जो कि एक दुर्लभ संयोग है.यह दुर्लभ संयोग विभिन्न राशियों पर कई प्रकार का प्रभाव डाल रहा हैं. यह कई राशियों के लिए अत्यंत लाभदायी होगा. आइये जानें इस संयोग का विभिन्न राशियों पर कैसा प्रभाव पड़ रहा है.

 

ये संयोग इन राशियों के लिए अत्यंत शुभदायक है 

 

मेष राशि

 

पंचम भाव में सूर्य इस राशि के जातकों के लिए शुभ सूचक है. नै कार्य योजनायें सफल होंगी. शुभ कार्यों में वृद्धि होगी.

 

मिथुन राशि

 

इस राशि के जातकों की ऊर्जा में अत्यधिक वृद्धि होगी, साहस और पराक्रम में बढ़ोत्तरी होगी. जिद्दी स्वभाव वाले जातकों को इस पर नियंत्रण रखना होगा.

 

कर्क राशि

 

ये संयोग इस राशि के जातकों पर काफी मेहरबान होगा. उनका कोई बड़ा काम पूरा होगा. आर्थिक स्थिति सबल होगी, सुख और शांति में बढ़ोत्तरी होगी. किसी को कटु वचन न कहें.

 

तुला राशि

 

इस राशि के जातकों का आर्थिक पक्ष मजबूत होगा. किसी बड़ी उपलब्धि हासिल करने के योग बनेंगे. चुनाव संबंधी निर्णय में सफलता मिलेगी.

 

वृश्चिक राशि

 

इस राशि के जातकों को सरकारी नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है. नौकरी पेशा लोगों को नई जिम्मेदारी और कार्यक्षेत्र में सफलता मिल सकती है.

 

धनु राशि

 

राशि के भाग्य भावमें सूर्य का गोचर होना आपके भाग्य में वृद्धि करेगा. आर्थिक स्थिति मजबूत होगी. धार्मिक कार्यों में आगे रहेंगे.

 

मकर राशि

 

इस राशि के अष्टम भाव में सूर्य का गोचर आपके सम्मान में बढ़ोत्तरी होगी. अचानक से आर्थिक लाभ मिल सकता है.

 

कुंभ राशि

 

राशि से सप्तम भाव में सूर्य का गोचर कार्य व्यापार में उन्नति देगा, आमदनी बढ़ेगी, नए समझौते कर सकते हैं. परंतु दांपत्य जीवन अच्छा नहीं रहेगा.

 

 मीन राशि

 

राशि से छठे शत्रुभाव में सूर्य का गोचर भी आपके लिए शुभदायक है. परन्तु अधिक खर्च  से आर्थिक तंगी आ सकती है.

 

ये संयोग इन राशि के जातकों के लिए शुभ सूचक नहीं हैं.

 

वृषभ राशि

 

वृषभ राशि के लिए यह संयोग शुभ नहीं है. सुखों में कमी आ सकती है. जातकों को पारिवारिक कलह का सामना भी करना पड़ सकता है. इस लिए इन्हें बहुत सावधान रहने की जरूरत है.

 

सिंह राशि

 

आपके लिए यह उत्तम तो है परन्तु  यह समय आपकी परीक्षा का भी है, इसलिए क्रोध न करें तथा ऊर्जाशक्ति को सही दिशा में लगाते हुए कार्य करें

 

कन्या राशि

 

राशि से हानि भाव में सूर्य का गोचर मिलाजुला फल देगा. यात्रा कष्ट कारी हो सकती है. धन हानि होने के भी योग हैं.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close