टॉप न्यूज़

कल से देश में शुरू होगी पहली ‘किसान रेल’, जानिए किन राज्यों को मिलेगा फायदा

कम समय में बाजार पहुंचेंगे फल और सब्जी

नई दिल्ली: फल और सब्जियों के ढोने के लिए भारतीय रेल सात अगस्त को अपनी पहली ‘किसान रेल’ सेवा शुरू करने जा रही है. रेलवे ने गुरुवार को कहा कि ऐसी पहली रेलगाड़ी महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के बीच चलेगी. रेल मंत्री पीयूष गोयल और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर एक वीडियो लिंक के माध्यम से किसान रेल को हरी झंडी दिखाएंगे.

 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल फरवरी में पेश बजट में जल्दी खराब होने वाले फल और सब्जियों जैसे उत्पादों के मालवहन के लिए ‘किसान रेल’ चलाने की घोषणा की थी. इस सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) योजना के तहत शीत भंडारण के साथ किसान उपज के परिवहन की व्यवस्था होगी.

 

रेल मंत्रालय ने एक वक्तव्य में कहा है, ‘‘इस साल के बजट में जल्दी खराब होने वाले कृषि उत्पादों के लिये बेहतर आपूर्ति श्रृंखला स्थापित करने के वास्ते ‘‘किसान रेल’’ चलाने की घोषणा को अमलीजामा पहनाते हुए रेल मंत्रालय इस प्रकार की पहली किसान रेल सात अगस्त को दिन में 11 बजे देवलाली से दानापुर के लिए चला रहा है. यह रेल साप्ताहिक आधार पर चलेगी.’’

 

महाराष्ट्र से बिहार के बीच दौड़ेगी पहली किसान रेल सेवा
जानकारों का कहना है कि किसान रेल की शुरुआत महाराष्ट्र से बिहार के बीच हो रही है. भारतीय रेलवे ने पहली किसान रेल को महाराष्ट्र के देवलाली रेलवे स्टेशन  (Devlali Railway Station) से बिहार स्थित दानापुर रेलवे स्टेशन (Danapur Railway Station) तक चलाने का फैसला किया है. 7 अगस्त को पहली किसान रेल (First Kisan Rail) देवलाली से छूटकर दानापुर पहुंचेगी. किसान रेल इन दो स्टेशनों के बीच लगभग 1519 किमी का सफर करीब 32 घंटे में तय करेगी.

 

ये होगा किसान रेल का रूट
देवलाली – नासिक रोड, मनमाड, जलगांव, भुसावल, बुरहानपुर, खंडवा, इटारसी, जबलपुर, सतना, कटनी , मानिकपुर, प्रयागराज, पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर और बक्सर रुकेगी. कुल मिलाकर इस पहले रूट में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और बिहार के किसानों को फायदा मिलने वाला है.

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close