BREAKING NEWS

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने लॉन्‍च की सरकारी बैंकों की ‘डोरस्टेप बैंकिंग सेवा’, जानें आपको क्‍या होगा फायदा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को पब्लिक सेक्टर बैंकों के लिए डोरस्टेप बैंकिंग सेवा को लॉन्च किया, ताकि बैंकिंग को आसान बनाया जा सके। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को कहा कि बैंक अर्थव्यवस्था को उबारने में बैंकों की उत्प्ररेक की भूमिका हैं। उन्होंने कहा, ‘‘इस अवस्था में आर्थिक स्थिति को उबारने में उत्प्ररेक बैंक हैं। बैंक अपने हर ग्राहक की नब्ज पहचानते हैं। सीतारमण ने कहा कि जितनी तेजी से भारत ने जनधन, आधार और मोबाइल को अपनाया है,

‘हर जगह होनी चाहिए बैंकों की पहुंच’

सरकारी बैंकों के ग्राहक मामूली शुल्‍क (Charges) देकर वित्‍तीय सेवाओं को भी घर बैठे हासिल कर सकेंगे. ​अब सीनियर सिटीजन (Senior Citizens) और दिव्यांग (Handicapped) समेत सभी ग्राहक डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस का लाभ ले सकेंगे. वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने कहा कि सरकारी बैंकों की डोरस्टेप बैंकिंग सेवा में ग्राहक सुविधा शीर्ष प्राथमिकता होगी. ग्राहकों को कॉल सेंटर के यूनिवर्सल टच प्वॉइंट्स, वेब पोर्टल या मोबाइल ऐप के जरिये घर पर बैंकिंग सेवाएं उपलब्‍ध कराई जाएंगी. इन्हें देश में 100 केंद्रों पर ​चुनिंदा सर्विस प्रोवाइडर्स की ओर से नियुक्त किए गए डोरस्टेप बैंकिंग एजेंट्स उपलब्ध कराएंगे.

 

डोरस्‍टेप बैंकिंग सर्विस लॉन्‍च होने के बाद अब वित्तीय सेवाएं अक्टूबर 2020 से घर पर ही उपलब्ध होंगी.

 

इस सुविधा से जुड़ी कुछ खास बातें

  • इन सुविधा के तहत नकदी देने व लेने, चेक देने, ड्राफ्ट की डिलिवरी, टर्म डिपॉजिट एडवाइज की डिलिवरी और लाइफ सर्टिफिकेट जैसी सुविधाएं शामिल हैं।
  • यह सुविधा का लाभ सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक 1800111103 नंबर पर कॉल कर लिया जा सकता है। सर्विस रिक्वेस्ट के लिए रजिस्ट्रेशन होम ब्रांच पर होगा।
  • गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए 60 रुपए और जीएसटी प्रति विजिट शुल्क देना होगा।
  • वित्तीय लेनदेन के लिए 100 रुपए और जीएसटी प्रति विजिट शुल्क लगेगा।
  • नकदी निकासी और नकदी जमा के लिए प्रति दिन प्रति लेनदेन 20 हजार रुपए की सीमा तय की गई है।
  • इन सेवाओं के लिए खाताधारक को होम ब्रांच से 5 किमी के दायरे में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के साथ मौजूद रहना होगा।
  • ज्वाइंट अकाउंट, गैर-व्यक्तिगत और नाबालिग खाते भी इस सुविधा का लाभ नहीं ले सकेंगे।
  • निकासी चेक या फिर पासबुक द्वारा ही की जा सकेगी।
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close