BREAKING NEWSअनतर्राष्ट्र्य खबरेंटेक
Trending

भारतीय बाजारो में ”चीनी स्मार्टफोन ब्रांड्स” को हुआ नुकसानः रिपोर्ट

मार्च तिमाही की 30 प्रतिशत मार्केट से कम है।

चीनी स्मार्टफोन ब्रांड्स को हुआ नुकसानः

ख़ास बातें

  • Covid-19 महामारी के चलते शिपमेंट हुए थे ठप

  • अब भारत में स्मार्टफोन मार्केट हो रही है सामान्य

  • साल की दूसरी तिमाही में भी Xiaomi बनी हुई है मार्केट लीडर

 

Xiaomi ने 29 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ साल की दूसरी तिमाही में भी अपना वर्चस्व बना कर रखा है। यह पिछले साल की समान तिमाही में हासिल की गई 28 प्रतिशत मार्केट से ज्यादा है। हालांकि मार्च तिमाही की 30 प्रतिशत मार्केट से कम है।

भारत में स्मार्टफोन शिपमेंट में 2020 के दूसरी तिमाही में 51 प्रतिशत की दर से साल-दर-साल (YoY) की गिरावट आई है। इस बात की जानकारी शुक्रवार को सामने आई Counterpoint Research की एक रिपोर्ट में मिली है।

हालांकि COVID-19 महामारी के कारण आपूर्ति की बाधाओं का सामना करने और बढ़ती चीन विरोधी भावनाओं के बावजूद Xiaomi ने इस तिमाही में अपना नेतृत्व जारी रखा है। इसके अलावा यह जानकारी भी दी गई है कि सैमसंग ने महामारी में सबसे तेजी से रिकवरी देखी और देश में प्री-कोविड ​​के स्तर के 94 प्रतिशत स्तर तक पहुंच गई। मार्च तिमाही के दौरान दक्षिण कोरियाई कंपनी ने 16 प्रतिशत मार्केट शेयर से बढ़त बना कर 26 प्रतिशत मार्केट शेयर हासिल कर लिया है।

Counterpoint Research की एक रिपोर्ट के अनुसार, अप्रैल में राष्ट्रीय लॉकडाउन के कारण बिल्कुल ठप पड़े शिपमेंट का झटका झेलने के बाद और जून में 0.3 प्रतिशत साल-दर-साल की मामूली गिरावट दर्ज करने के बाद अब स्मार्टफोन बाज़ार सामान्य होने लगा है।

Xiaomi ने 29 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ साल की दूसरी तिमाही में भी अपना वर्चस्व बना कर रखा है। यह पिछले साल की समान तिमाही में हासिल की गई 28 प्रतिशत मार्केट से ज्यादा है। हालांकि मार्च तिमाही की 30 प्रतिशत मार्केट से कम है।

Xiaomi के बाद, Samsung बाज़ार में दूसरे स्थान पर कायम है। पिछले साल की समान तिमाही में 25 प्रतिशत मार्केट हासिल कर चुकी सैमसंग इस तिमाही में बढ़त के साथ 26 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने में कामयाब रही है। यह इस साल की पहली तिमाही से 10 प्रतिशत ज्यादा हिस्सेदारी है।

जून में खत्म होने वाली तिमाही में 17 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ तीसरे नंबर पर Vivo रही है। रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी ने प्री-कोविड मार्केट की 60 प्रतिशत रिकवरी कर ली है। Realme, जो शाओमी के खिलाफ कड़ी प्रतिसर्धा में है, 11 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ चौथे स्थान पर है।

यह पिछले साल की दूसरी तिमाही की नौ प्रतिशत हिस्सेदारी से तीन प्रतिशत ज्यादा है। हालांकि मार्च तिमाही से तीन प्रतिशत कम है।

रियलमी की मूल कंपनी Oppo ने सप्लाई में बधाओं के चलते काफी संघर्ष किया है। फिर भी कंपनी 9 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ पांचवा स्थान हासिल करने में कामयाब रही है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close