बॉलीवुड न्यूज़राज्यहॉट न्यूज़

अमिताभ बच्चन ने जीता योगी के इलाके के लोगो का दिल – किया बड़ा काम

मशहूर फिल्म स्टार अमिताभ बच्चन ( Amitabh Bachchan ) ने उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इलाके के लोगो ले लिए एक मानवता भरा काम किया है.

मशहूर फिल्म स्टार अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के इलाके गोरखपुर के लोगों के लिए एक मानवता भरा काम किया है. कोरोना संकट काल में फंसे पूर्वांचल के प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए सदी के महानायक अमिताभ बच्चन आगे आये.

जो श्रमिक कभी सपने में भी फ्लाइट से यात्रा के बारे में नहीं सोच सकते थे, उन्हें फ्लाइट से अमिताभ बच्चन ने मुंबई से गोरखपुर भेजा. गोरखपुर और बस्ती मंडल के 187 श्रमिकों को अमिताभ बच्चन ने हाजी अली ट्रस्ट की सहयोग से बीते बुधवार को गोरखपुर भिजवाया.

गोरखपुर एयरपोर्ट पर पहुंचे प्रवासी श्रमिकों ने कहा कि वो अमिताभ बच्चन की वजह से न केवल वो अपने घर पहुंच गये बल्कि पहली बार वो जहाज में बैठकर यात्रा करने का मौका भी मिला. बताया जा रहा है कि लॉकडाउन में मुंबई में फंसे यूपी और बिहार के कामगारों को घर भेजने के लिए अमिताभ बच्चन और उनकी टीम मिशन मिलाप के तहत अभियान चला रही है. इस अभियान के तहत बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिकों को उनके घर बसों से भेजा गया.

पहले ट्रैन का प्रबंध 

पूर्वांचल के श्रमिकों के लिए पहले अमिताभ बच्चन की टीम ट्रेन का प्रबंध करने का प्रयास कर रही थी पर जब ये प्रयास नहीं हो सका तो उन्होने श्रमिकों को अलग अलग शहरों में भेजने के लिए इंडिगो की बोईंग विमान बुक कर दिया है. बीते बुधवार को उसी में से एक बोईंग श्रमिकों को लेकर गोरखपुर पहुंचा. बुधवार को ही मुंबई से प्रयागराज और वाराणसी के लिए दो चार्टर फ्लाइट आयी थी.

इन्होंने उठाया खर्चा 

विमान का पूरा खर्चा अमिताभ बच्चन की टीम मिशन मिलाप और हाजी अली ट्रस्ट ने उठाया. चार्टर प्लेन से आये एक श्रमिक ने कहा कि वो गोरखपुर आने के लिए लंबे समय से प्रयास कर रहे थे पर ट्रेन नहीं मिल पा रही थी. इसके बाद अमिताभ बच्चन के बारे में पता चला तो वहां पहुंच कर रजिस्ट्रेशन कराया. रजिस्ट्रेशन के बाद आठ जून को फोन आया कि 10 जून को गोरखपुर जाने के लिए विमान का इंतजाम हो गया है. जिसके बाद मुंबई में घर पर ही गाड़ी आयी और उसी से हम लोग एयरपोर्ट पहुंचे, जहां से जहाज में बैठकर दो घंटे में गोरखपुर आ गये.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close