अनतर्राष्ट्र्य खबरें

गलवान घाटी की झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद, चीन के 43 सैनिक मारे गए

LAC के पास चीनी हेलिकॉप्टरों का आना जाना बढ़ गया है. गलवान घाटी में भारत के साथ हुई हिंसक झड़प में भारी संख्‍या में चीनी सिपाही भी हताहत हुए हैं.

  • LAC पर चीनी सेना के साथ झड़प में भारत के 20 सैनिक शहीद
  • सोमवार रात को दोनों देशों की सेनाओं के बीच हुई थी हिंसक झड़प
  • यह घटना ऐसे वक्त पर हुई है, जब स्थिति सामान्य हो रही थी.
  • 15 जून की रात को बीते साढ़े चार दशकों में सबसे गंभीर झड़प

 

नई दिल्लीः सोमवार की रात LAC पर हुई चीन के साथ झड़प में भारत माता के 20 सपूत वीरगति को प्राप्त हुए. सामने आया है कि चीन को इस हिंसक झड़प में दोगुनी क्षति उठानी पड़ी है. अपनी कारस्तानी में नापाक चीन के 43 सैनिकों का नुकसान हुआ है.

गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई यह हिंसक झड़प कोई भी रुख अख्तियार कर सकती है. बताया गया है कि चीन के 43 सैनिक गंभीर घायल और मृतक हैं. भारत के जो सैनिक मृत्यु को प्राप्त हुए हैं उनमें एक कर्नल रैंक का अधिकारी भी शामिल है.

तीन घंटे चली यह झड़प दुनिया की दो एटमी ताकतों के बीच लद्दाख में 14 हजार फीट ऊंची गालवन वैली में हुई। उसी गालवन वैली में, जहां 1962 की जंग में 33 भारतीयों की जान गई थी। भारत ने चीन की तरफ हुई बातचीत इंटरसेप्ट की है। इसके मुताबिक, चीन के 43 सैनिक हताहत होने की खबर है, लेकिन चीन ने यह कबूला नहीं है।

45 साल पहले चीन ने ऐसे ही धोखा दिया था
20 अक्टूबर 1975 को अरुणाचल प्रदेश के तुलुंग ला में चीन ने असम राइफल की पैट्रोलिंग पार्टी पर धोखे से एम्बुश लगाकर हमला किया था। इसमें भारत के 4 जवान शहीद हुए थे। इसके 45 साल बाद चीन बॉर्डर पर हमारे सैनिकों की शहादत हुई है।

 

चीन रुक-रुककर सैनिकों के शव भेज रहा, कुछ सैनिक नदी में गिर गए थे
सेना के सूत्रों ने बताया कि 15 से 20 सैनिक लापता हैं। इनमें से कुछ चीन के कब्जे में हैं। चीन रुक-रुककर भारतीय सैनिकों के शव भेज रहा था। कुछ सैनिक नदी में गिर गए हैं, जिनके शव मिल रहे हैं। 24 घंटे होने को आए हैं, लेकिन उनका कोई पता नहीं चला है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर चीन के हेलिकॉप्टरों का मूवमेंट बढ़ गया है। वह अपनी सेना के हताहतों को एयरलिफ्ट कर रहा है।

चीनी सीमा के इलाकों में अलर्ट

चीन और भारतीय सेना के बीच हुई तनातनी के चलते हिमाचल प्रदेश से सटी चीनी सीमा के इलाकों में अलर्ट किया गया. अलर्ट के साथ ही हिमाचल पुलिस ने सूबे की सभी खुफिया एजेंसियों को सतर्क किया. राज्य के जिला किन्नौर और लाहौल स्पीति में रह रहे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एडवायजरी भी जारी की गई. हिमाचल के दो जिलों किन्नौर और लाहौल स्पीति के साथ चीन की सीमा लगती है.

 

LAC पर हुई इस झड़प के बाद दिल्ली में बैठकों का दौर भी शुरू हो गया. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे के साथ बैठक हुई. वहीं, राजनाथ सिंह ने इस मामले की जानकारी प्रधानमंत्री मोदी को फोन पर दी. तो वहीं विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पीएम आवास जाकर प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की.

 

Related Articles

Back to top button
Close