अनतर्राष्ट्र्य खबरें

LAC पर तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ और चीन के रक्षा मंत्री वेई फेंग्हे के बीच 2 घंटे 20 मिनट बैठक चली

राजनाथ सिंह ने एससीओ की रीजनल एंटी-टेररिज्म स्ट्रक्चर (RATS) के काम को सराहा रूस ने पाकिस्तान को किसी भी तरह के हथियार की सप्लाई नहीं करने की अपनी पॉलिसी दोहराई

मॉस्को:एससीओ समिट में शामिल होने रूस दौरे पर गए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को चीन के रक्षा मंत्री वेई फेंग्हे से मुलाकात की। चीन की ओर से रक्षा मंत्रियों की मुलाकात की पहल की गई थी। लद्दाख में भारत-चीन के बीच करीब चार महीने से जारी तनाव के बीच दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों की यह पहली मुलाकात है। दोनों देश के बीच सीमा पर तनाव खत्म करने को लेकर 2 घंटे 20 मिनट तक बैठक चली।

सिंह और वेई दोनों शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) के रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने के लिए मॉस्को में हैं। हालांकि मई की शुरुआत में भी विदेश मंत्री एस जयशंकर और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने तनाव खत्म करने के लिए चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ अलग-अलग टेलीफोन पर बातचीत की थी।

इससे पहले राजनाथ ने मॉस्को एससीओ-सीएसटीओ-सीआईएस मेंबर्स की ज्वाइंट मीटिंग को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि शंघाई कॉर्पोरेशन ऑर्गेनाइजेशन (एससीओ) रीजन में सुरक्षा और स्थिरता के लिए भरोसे का माहौल, गैर-आक्रामकता, इंटरनेशनल नियमों का सम्मान और मतभेदों का शांतिपूर्ण समाधान बेहद जरूरी है।

राजनाथ सिंह ने जोर देकर कहा कि आज मैं फिर से दोहराता हूं कि भारत ग्लोबल सिक्योरिटी आर्किटेक्चर के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। हमें आतंकवाद, ड्रग ट्रैफिकिंग जैसे खतरों से निपटने के लिए संस्थागत क्षमता की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मैं हमारे प्रधानमंत्री के विचारों को दूसरी तरह से कहूं, तो हमारा मकसद सुरक्षा और सभी का विकास है।

 

पाकिस्तान को हथियार सप्लाई नहीं करने की पॉलिसी दोहराई
इससे पहले राजनाथ सिंह ने रूस के रक्षा मंत्री जनरल सरगे शोइगू से मुलाकात की। सूत्रों के मुताबिक, इस दौरान रूस ने पाकिस्तान को किसी भी तरह के हथियार की सप्लाई नहीं करने की अपनी पॉलिसी दोहराई। मीटिंग में भारत के अनुरोध पर रूस ने इस बारे में अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close