अनतर्राष्ट्र्य खबरें

दिल्ली एनसीआर में फिर से भूकंप के झटके,2.1 तीव्रता का भूकंप आया, किसी नुकसान की खबर नहीं

11 दिन में दूसरी बार झटके लगे

दिल्ली एनसीआर इलाके में आज यानी सोमवार की दोपहर एक बजे (01:00 PM) पर फिर से एक बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. ये झटके 2.1 तीव्रता के थे. इनका एपिसेंटर दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम से लगभग 13 कि.मी दूर सतह के 18 किलोमीटर नीचे था. 12 अप्रैल से अभी तक दिल्ली में 14 बार भूकंप के झटके लग चुके हैं.

  • पिछली बार 29 मई को 4.6 तीव्रता का भूकंप आया था
  • दिल्ली-एनसीआर में मई में 3 बार, अप्रैल में 2 बार भूकंप आया

नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर में सोमवार को फिर भूकंप के झटके महसूस किए गए। नेशनल सेंटर फॉर साइमोलॉजी (भूकंप विज्ञान) के मुताबिक रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 2.1 थी। झटके हल्के होने की वजह से किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। रिक्टल स्केल पर 6 की तीव्रता का भूकंप स्ट्रॉन्ग माना जाता है।

11 दिन में दूसरी बार झटके
दिल्ली-एनसीआर में 29 मई को भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। उस दिन तीव्रता 4.6 थी। हालांकि, कोई नुकसान नहीं हुआ था। इससे पहले 15 मई, 10 मई, 13 अप्रैल और 12 अप्रैल को भी झटके लगे थे।

किसी बड़े हादसे का संकेत हैं भूकंप के लगातार झटके
देश में पिछले कुछ दिनों से लगातार भूकंप के झटके आ रहे हैं. जो कि धरती के अंदर किसी बड़ी हलचल का संकेत दे रहे हैं. निकट भविष्य में ये भूचाल के किसी बड़े हादसों का कारण बन सकते हैं.
IIT(इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी) के शोधकर्ताओं ने आशंका जाहिर की है कि दिल्ली-एनसीआर(Delhi NCR)इलाके में जल्दी ही किसी बड़े भूकंप की आशंका है.

आईआईटी धनबाद के सीस्मोलॉजी डिपार्टमेंट के प्रमुख पीके खान की रिसर्च के मुताबिक हरिद्वार से लेकर दिल्ली एनसीआर रिज इलाका 8.5 रिक्टर स्केल के किसी बड़े भूकंप का निशाना बन सकता है. उन्होंने आशंका जताई है कि इस भूकंप का केंद्र हिमाचल का कांगड़ा या फिर उत्तराखंड का उत्तरकाशी हो सकता है.
पिछले दो सालों में दिल्ली एनसीआर इलाके में 4 से 5 रिक्टर स्केल के लगभग 64 और पांच से ज्यादा रिक्टर स्केल के आठ(8) झटके देखे गए हैं. जो यह बताते हैं कि भूगर्भीय ऊर्जा एक जगह संघनित हो रही है. जो किसी बड़े भूचाल का कारण बन सकती है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close